रिश्तों के बदलते मायने कहानी, story in hindi

story in hindi

रिश्तों के बदलते मायने कहानी, (story in hindi) हमे जीवन में हमेशा साधारण जीवन ही बिताना चाहिए अगर हम दिखावे पर जाते है, तो इससे जीवन पर बुरा असर पड़ता है, वह हमारे जीवन को बदल सकता है, इसलिए हमे ऐसा नहीं करना चाहिए, यह कहानी आपको पसंद आएगी,

रिश्तों के बदलते मायने कहानी : story in hindi

hindi story.jpg
story in hindi

रक्षाबंधन का त्यौहार नजदीक आ रहा था नरेश को अपनी बहन के लिए एक तोहफा लेना था लेकिन उसके पास इतना धन नहीं था जिससे कि वह बहुत अच्छा तोहफा ले पाए नरेश की शादी हो चुकी थी उसकी पत्नी कह रही थी कि तुम कोई भी तोहफा उसे दे सकते हो लेकिन नरेश यह कहता था कि अगर मैं कोई सस्ता सा तोहफा ले जाऊंगा तो इससे मुझे अच्छा नहीं लगेगा

Read More-इंसानियत की एक कहानी 

क्योंकि नरेश ने अपनी बहन का विवाह एक बहुत अच्छे घर में किया था जो कि बहुत ही अच्छा दिखाई देता था वह बहुत ही बड़े लोग थे और उनका व्यापार भी बहुत अच्छा चलता था इसलिए सस्ता तोहफा देना कुछ अच्छा नहीं लग रहा था जैसे-जैसे रक्षाबंधन का त्यौहार नजदीक आ रहा था नरेश की परेशानी धीरे-धीरे बढ़ रही थी क्योंकि नरेश का व्यापार इतना अच्छा नहीं चल रहा था जिससे कि वह बहुत अच्छा तोहफा ले पाए

Read More-सरल जीवन की हिंदी कहानी

लेकिन नरेश की पत्नी यही कह रही थी कि तुम कोई भी तोहफा दे सकते हो क्योंकि हम उनसे ज्यादा अमीर तो नहीं हैं जो बहुत अच्छा तोहफा दे पाए लेकिन हम कोई भी छोटा तोहफा दे सकते हैं नरेश को यह अच्छा नहीं लग रहा था इसलिए नरेश बहुत दुखी नजर आ रहा था नरेश ने अपनी घर की हालत को अच्छी तरह से देखा और सोचने लगा कि हमारे घर में इतना अच्छा सामान भी नहीं है बैठने की व्यवस्था भी नहीं है हमारे घर में बैठने के लिए अच्छी कुर्सियां भी नहीं है जो की बहुत ही खराब हो चुकी है

Read More-अच्छे सेवक की हिंदी कहानी

अगले दिन ही नरेश की पत्नी ने नरेश से कहा कि हमें अच्छी कुर्सियां ले लेनी चाहिए क्योंकि हमारे रिश्तेदार आ रहे हैं तो हमें उनके स्वागत के लिए तैयारी करनी चाहिए नरेश ने पूछा कि कौन आ रहे हैं तभी नरेश की पत्नी ने कहा कि मेरे भैया और बहन आ रहे हैं इसलिए हमें अपने घर के हालात ठीक कर लेना चाहिए यहां पर कुर्सियां भी नहीं है आपको कुर्सी लेने जाना चाहिए जिससे कि उन्हें बैठने के लिए कोई भी परेशानी ना हो

Read More-राजा और जादूगर की हिंदी कहानी

तभी नरेश का मन बदल चुका था क्योंकि वह सोच रहा था कि मैं अपनी बहन के लिए एक अच्छा तोहफा भी नहीं ले पा रहा हूं और मेरी पत्नी बहुत ही अच्छी कुर्सियों की बात कर रही है यह रिश्तो के बदलते मायने मेरी समझ से बाहर हैं इंसान को हमेशा ऐसा ही बना रहना चाहिए जैसा कि वह दिखाई देता है हमें बेकार के दिखावे पर नहीं जाना चाहिए जो स्थिति हमारी है वही सब को दिखाई देनी चाहिए अगर हम उसमें कोई भी बनावटीपन लाते हैं तो इससे हम अपने जीवन को अच्छा नहीं बना सकते इसलिए कभी भी रिश्तो के बदलने से अपने हालात नहीं बदलने चाहिए.

Read More-डरावने कुए की कहानी

Read More-अद्भुत घटनाएं

यह रिश्तों के बदलते मायने कहानी, (story in hindi) कहानी आपको कैसी लगी, हमे जरूर बताये, अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो आप इसे शेयर जरूर करे और कमेंट करके हमे भी बताये, 

Read More Hindi Story :-

Read More-घबराहट का सामना हिंदी कहानी

Read More-बच्चों की कहानी

Read More-जीवन में आया बदलाव कहानियाँ

Read More-जादुई थैले की कहानी

Read More-मेरी हिंदी कहानी

Read More-बोलने वाले तोते की कहानी

Read More-राजकुमार का लक्ष्य हिंदी कहानी

Read More-पुरानी यादें हिंदी कहानी

Read More-सही ज्ञान की कहानी

Read More-उम्मीद की नयी किरण कहानी

Read More-क्या आप जानते है हिंदी कहानी

Read More-तीन चूहों की कहानी

Read More-दोस्ती की नयी कहानी

Read More-शिक्षा का महत्व कहानी

Read More-अनमोल विचार की कहानी

Read More-घोडा गाड़ी वाले का लालच कहानी

Read More-जीवन की नयी कहानी

Read More-मज़बूरी की कहानी

Read More-आलसी की हिंदी कहानी

Read More-समय का खेल एक कहानी

Read More-एक अभिमानी की कहानी

Read More-भलाई कौन करेगा कहानी

Read More-बहादुरी की कहानी

Read More-अपने मन की बात की कहानी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!