जीवन की नयी कहानी, jivan ki new hindi kahani

jivan ki new hindi kahani

जीवन की नयी कहानी (Jivan ki new hindi kahani) आपको पसंद आएगी, क्योकि हम जीवन से बहुत परेशान हो जाते है अगर जब हमे कोई रास्ता नज़र नहीं आता है तो हम बहुत ही उदास हो जाते है यह कहानी आपकी मदद कर सकती है,

जीवन की नयी कहानी : jivan ki new hindi kahani

hindi kahani.jpg

jivan ki new hindi kahani

वह लड़का पहली बार अपने गांव से बहार निकला था इसलिए जब वह बस से जा रहा था, तभी उसका स्टेशन पीछे छूट गया था तभी एक आदमी बोला की आप तो बहुत आगे आ गए है आपको यह बात पता होनी चाहिए थी की आपको कहा पर उतरना है जब उसे यह पता चला तो वह बहुत ज्यादा परेशान हो गया था,

 

एक तो वह पहली बार जा रहा था दूसरा अब उसे बहुत चलना पड़ेगा क्योकि यह दुरी पांच किलोमीटर की थी, वह बहुत आगे आ गया था, पहली बार घर से निकला था वह और अब उसे अनजान जगह पर उतरना पड़ा था, उसने पूछा की क्या वह कोई सवारी देख सकता है जो उसे वही पर छोड़ दे, मगर एक आदमी ने बताया की यहां पर तो बहुत मुश्किल से बीएस चलती है, अब आपको अगली बस तो शाम को ही मिलेगी,

 

यह तो परेशानी और ज्यादा बढ़ गयी थी, अपने पिताजी की बात मानकर वह घर से बहार निकला था, क्योकि उसके पिताजी की तबियत बहुत खराब थी इसलिए वह नहीं जा सकते थे, उनकी जगह पर वह निकल पड़ा था, उसे दूर गांव में जाना था वह पर किसी के यहां पर शादी थी, जिसकी वजह से उसे जाना पड़ा था, 

Read More-सच्ची ज्ञान की बातें

वह अब उस जगह पर पैदल ही जा रहा था, क्योकि और कोई भी साधन नहीं था, बहुत तेज धुप पड़ रही थी, धुप होने की वजह से वह थोड़ा परेशान था अब वही सोच रहा था की धुप से बचकर निकलना बहुत मुश्किल था, इसलिए वह सोच रहा था की थोड़ा आराम करके आगे बढ़ेगा, और यह भी हो सकता है, की कोई उसे मिल जाए,

 

उसकी नज़र एक पेड़ पर गयी जो बहुत ही बढ़ा था, ऊके नीचे बहुत छाव थी, वह उसके नीचे बैठकर आराम करने लगा था, और वह आती हुई ठंडी हवा से काफी खुश था, पेड़ के नीचे हवा थोड़ी ठंडी महसूस होती है, वह यह भी सोच रहा था की मौसम अगर गर्मी न करता तो मुझे जाने में कोई परेशानी नहीं होती, लेकिन अभी धुप है तो मुझे थोड़ा इंतज़ार करना पड़ेगा, 

Read More-जीवन की अच्छी कहानी

तभी उसने एक घोडा देखा वह घोडा वहा पर क्या कर रहा था, उसको कुछ भी समझ नहीं आ रहा था, क्योकि ऐसे ही घोडा नहीं घूमता है, लेकिन कोई भी नज़र नहीं आ रहा था, उसने कुछ देर इंतज़ार किया की कोई तो होगा जो घोड़े को लेकर आया होगा, लेकिन कोई दिख नहीं रहा था, वह घोडा उसके पास आ गया था,

 

वह उठा और घोड़े को देखने लगा था, शायद वह घोडा उसके काम आ सकता है, लेकिन वह यह भी देख रहा था की घोड़े का मालिक आ गया तो वह बुरा मान जाएगा, पर कोई भी दिखाई नहीं दे रहा था, जब उसे कोई नज़र नहीं आया तो वह घोड़े का प्रयोग करने लगा था, वह घोड़े पर बैठा और चल दिया था, आज उसको सवारी मिल गयी थी, 

Read More-दयालु आदमी की हिंदी कहानियां

वह उस घोड़े के सहारे चल रहा था, उसने यह भी नहीं सोचा था की उसे कुछ समय बाद ही सहायता मिल जायेगी, लेकिन तभी घोड़े ने उसे नीचे गिरा दिया था उसकी मेहनत अब बेकार  हो गयी थी, और उसे कुछ चोट भी आ गयी थी, वह अब यही सोच रहा था की उसे ऐसा नहीं करना चाहिए था, अब उससे चलना भी बहुत मुश्किल हो रहा था,

 

लेकिन अब क्या किया जा सकता था, यह मुसीबत तो कम नहीं थी, और मुसीबत आने वाली थी, अब मौसम बहुत खराब होने वाला था मौसम को देखकर ऐसा लग रहा था की अब बारिश आने ही वाली है, वह बारिश से बचने के लिए कोई जगह तलाश कर रहा था मगर कोई जगह नहीं थी, उसे एक टुटा हुआ मकान जो काफी समय से बंद था दिखाई दिया था, उसने उसी में जाकर छिपने का विचार बनाया था,

Read More-अनमोल विचार की कहानी

जैसे ही वह मकान के अंदर गया तो बहुत तेजी से बारिश होने लगी थी, वह सही सोच रहा था की बारिश बहुत तेज होगी, और वही हुआ था, लेकिन उस मकान की छत भी टूटी हुई थी, थोड़ा-थोड़ा पानी नीचे आ रहा था, उससे बचने की वह कोशिश कर रहा था, लेकिन कोई न कोई बून्द उसे लग ही जाती थी, बारिश की रफ़्तार बहुत अधिक थी,

 

उस बारिश को देखकर लग रहा था की वह बहुत देर तक होती रहेगी, मगर वह यही सोच रहा था की अगर उसने जल्दी नहीं की तो वह देरी से पहुंच जाएगा, जिससे परेशानी हो सकती है मगर वह कर भी क्या सकता था, वह सिर्फ इन्तजार कर सकता था, जब बारिश रुके तो वह जाने की कोशिश करे, लगभग दो घंटे बाद बारिश रुक ही गयी थी, मगर चारो और पानी ही पानी था, चलो बारिश तो रुकी,

Read More-सही रास्ते का चुनाव कहानी

वह आगे बढ़ने लगा था, अभी आधा ही रास्ता तय हुआ था तभी एक सायकिल चला आ रहा था, उसे देखकर उसे काफी खुशी हुई थी, वह अब उस सायकिल वाले के साथ उस गांव की और बढ़ने लगा था, कुछ समय बाद आखिर वह पहुंच ही गया था, वह अपने घर से सुबह को निकला था. और पहुंचने में उसे शाम हो गयी थी, यह सफर उसे याद रहेगा,

 

उसके सामने अनेक परेशानिया आयी थी, उसकी बस आगे निकल गयी थी, उसके बाद घोड़े से वह गिर गया था जिसके कारण उसे चोट आयी थी, उसके बाद बहुत तेज बारिश जिसके बारे में उसने कभी सोचा नहीं था, क्योकि तेज धुप में बारिश होना वह उम्मीद भी नहीं कर सकता था, उसे ऐसा लग रहा था की वह घर से तो पहली बार निकला था मगर परेशानिया उसे बहुत अधिक मिली थी, 

Read More-मज़बूरी की कहानी

हमारी जिंदगी भी कुछ ऐसी ही है इसमें बहुत कुछ अलग होता है और कभी-कभी तो ऐसा भी होता है की उसके बारे में हमे ज्ञान भी नहीं होता है, लेकिन कुछ समय बाद सब ठीक हो जाता है इसलिए जीवन में कभी परेशान नहीं होना चाहिए, क्योकि रात के बाद सवेरा होता ही है, 

अगर आपको यह जीवन की नयी कहानी, (jivan ki new hindi kahani) पसंद आयी है तो आगे भी शेयर करे और कमेंट करके हमें भी बताये.

Read More Hindi Story :-

Read More-आलसी की हिंदी कहानी

Read More-समय का खेल एक कहानी

Read More-एक अभिमानी की कहानी

Read More-भलाई कौन करेगा कहानी

Read More-बहादुरी की कहानी

Read More-अपने मन की बात की कहानी

Leave a Reply

error: Content is protected !!
अकेलापन एक कहानी -Click Here
+