जादुई थैले की कहानी, interesting story hindi

interesting story hindi

जादुई थैले की कहानी (interesting story hindi) हमे यही बताती है की हमे सबकी मदद करनी चाहिए हमे जीवन में किसी को भी परेशान नहीं करना चाहिए, यह कहानी आपको पसंद आएगी,

जादुई थैले की कहानी : interesting story hindi

hindi story.jpg

interesting story hindi

एक नगर में दो भाई रहते थे बड़ा भाई बहुत ही अमीर था और छोटा भाई बहुत ही गरीब था छोटा भाई बहुत मेहनत करता लेकिन उसे यह कुछ भी प्राप्त नहीं हो रहा था धीरे-धीरे उसका बचा हुआ सारा सामान भी खत्म हो रहा था उसके घर के हालात बहुत बिगड़ चुके थे और वह बहुत ही परेशानियों का सामना करना शुरू कर दिया था वह अपनी परेशानी को लेकर बहुत परेशान था क्योंकि उसे दिनभर में कोई भी काम नहीं मिल रहा था जिसके कारण उसे भूख का भी सामना करना पड़ रहा था

 

1 दिन ऐसा भी आया कि छोटे भाई को लगा कि मुझे बड़े भाई से मदद लेनी चाहिए वह बड़े भाई से मदद लेने के लिए उसके घर पर गया बड़ा भाई काफी अमीर था छोटा भाई बड़े भाई के पास आया और कहने लगा कि मेरे पास अब खाने को कुछ भी नहीं बचाया अगर आप मेरी थोड़ी सी मदद कर देंगे तो इससे मेरे बच्चों को खाना मिल जाएगा बड़े भाई ने कहा कि मुझे कोई मतलब नहीं है तुम कुछ भी करो मेरे पास तुम्हें देने के लिए धन भी नहीं है छोटे भाई ने कहा कि आप ही मुझे कुछ काम दे दीजिए क्योंकि मेरे पास अब कोई काम भी नहीं रहा मैं बहुत मेहनत करता हूं लेकिन मुझे कोई भी काम नहीं मिल पा रहा है जिसके कारण मेरा घर भी नहीं चल रहा है

 

 बड़े भाई ने कहा कि यहां से चले जाओ मेरे पास तुमसे बात करने का समय नहीं है छोटा भाई बड़े भाई के घर से निकल चुका था और वह समस्याओं का हल ढूंढने के लिए बहुत कोशिश कर रहा था उसने बहुत जगह है काम की तलाश भी की लेकिन से कोई भी काम नहीं मिल रहा था तभी उसने देखा कि एक बूढ़ा आदमी अपना घोड़ा गाड़ी लेकर जा ही रहा था कि उसकी घोड़ागाड़ी एक गड्ढे में फस गई जिसके कारण मैं उसे निकाल नहीं पा रहा था वह उस बूढ़े आदमी के पास गया और कहा कि मैं आपकी घोड़ा गाड़ी निकालने में मदद कर दूंगा बूढ़ा आदमी कहने लगा तुम तो बहुत अच्छे इंसान हो मेरी मदद हो जाए तो जो तुम चाहोगे वह तुम्हें मिल जाएगा वह आदमी बोला कि मुझे तो बहुत परेशानियां हैं मेरे घर में खाना भी नहीं बन पा रहा है मुझे कोई भी काम देने को तैयार ही नहीं है मैंने 2 दिन से खाना नहीं खाया है और मुझे बहुत भूख लग रही है

Read More-उम्मीद की नयी किरण कहानी

मेरे बच्चे भी भूखे हैं वह बूढ़ा आदमी उस आदमी को घर ले गया और कहने लगा कि तुमने मेरी मदद की है मैं तुम्हारी मदद कर दूंगा वह बूढ़ा आदमी घर के अंदर गया और कुछ देर बाद ही घर से बाहर आया वह जब बूढ़ा आदमी अपने घर में से बाहर आया तो उस आदमी को उसने एक शहद से भरा हुआ एक डिब्बा उस आदमी को दिया उस बूढ़े आदमी ने कहा कि यह डिब्बा लेकर तुम्हें एक ऋषि मुनि के पास जाना होगा जब तुम यह ऋषि मुनि के पास जाकर उन्हें यह शहद का डिब्बा दोगे तो वह प्रसन्न हो जाएंगे और उनसे तुम्हें वरदान मांगना होगा तुम्हें इस बात का ध्यान रखना होगा कि वरदान मैं तुम्हें कोई भी धन संपत्ति नहीं मांगनी है

 

इसके बाद तुम्हारी सभी इच्छाएं धीरे-धीरे पूरी हो जाएंगे और तुम्हारे समस्याएं भी समाप्त हो जाएगी वह आदमी उस शहद के डिब्बे को लेकर ऋषि मुनि के पास जंगल की ओर निकल गया जब वह जंगल की ओर गया तो उसने देखा कि ऋषि मुनि की तपस्या कर रहे हैं ऋषि मुनि जी के पास जाकर बैठ गया कुछ देर बाद ऋषि मुनि ने अपनी आंखें खोली और देखा कि एक आदमी बैठा हुआ है ऋषि मुनि ने पूछा कि तुम यहां क्या कर रहे हो और तुम यहां पर क्या लेने आए हो तभी वह आदमी उठा और शहद का डिब्बा ऋषि मुनि के सामने खोल कर रख दिया ऋषि मुनि ने कहा कि तुम्हें मालूम है कि मुझे शहद बहुत पसंद है

Read More-जीवन की अच्छी कहानी

इसके बाद ऋषि मुनि ने वह शहद चखना शुरू किया और कहा कि यह तो बहुत ही मीठा है और मुझे आनंद आ गया उसके बाद ऋषि मुनि ने कहा जो चाहे मन में वह मांग लो तुम्हारी सभी इच्छाएं पूरी होंगी आदमी कहने लगा कि मुझे तो बहुत समस्या मेरे पास कुछ भी खाने को नहीं है और हमारे घर पर बच्चे भी भूखे बैठे हैं ऋषि मुनि ने अपने पास से उसे एक थैला दिया और कहा कि इस थैले को अपने घर पर रख दो और जब भी जो भी मांगोगे उसको मन में सोच कर हाथ डालना तुम्हारा उसी चीज से थैला भर जाएगा वह आदमी थैला लेकर घर चला गया और जब वह घर पहुंचा तो सभी के सामने उसने उस थैले में से मन में सोच सोच कर बहुत सारी वस्तुएं निकाली जो भी उसे खाने का सामान चाहिए तो वह सामान निकाल कर उस थैले से बाहर निकालकर वह सभी खा लेते और इस तरह उनकी भूख भी धीरे-धीरे अनियंत्रित हो गई थी और वह है सामान निकाल निकाल कर बाजार में बेचने भी लगा था जिससे उसे धीरे-धीरे धन भी प्राप्त हो रहा था और इस तरह वह आदमी अमीर होता जा रहा था

 

लेकिन उस आदमी ने कभी भी उस थैले में से धन की प्राप्ति की कोई इच्छा नहीं रखी थी वह उसमें से वस्तुएं निकालता और उसे बाजार में बेच कर जो भी कीमत मिल जाती उसे लेकर घर आ जाता था एक दिन बड़ा भाई वहां से निकल रहा था तभी उसने देखा कि छोटे भाई ने तो मकान भी बहुत अच्छा बना लिया है और धीरे-धीरे यह अमीर होता जा रहा है और यह मुझसे भी ज्यादा अमीर हो गया है इसलिए वह यह सब देखने के लिए उसी घर में छुप गया कुछ देर बाद दे उसने देखा कि उसके पास एक थैला है और उसमें से वह वस्तु ही निकाल रहा है उस के बड़े भाई ने सोचा कि हो सकता है यह धन भी निकलता हो

Read More-इंसानियत की एक कहानी 

इसलिए उसने मौका देखकर वह तेरा थैला चुरा लिया और वहां से भाग गया उसके बाद घर आया और घर पर आकर उसने अपनी पत्नी और बच्चों से कहा कि हमें यहां से चलना चाहिए और दूसरी जगह पर जाकर हमें अपना मकान बनाना चाहिए मुझे एक ऐसी चीज़ मिल गई है जिससे हम और भी धनी हो सकते हैं और इस तरह वह थैला लेकर वहां से चले गए दूसरे नगर जाने के लिए उन्हें एक नाव की आवश्यकता होती थी क्योंकि वह वह नाव नदी को पार कराती थी वह बड़ा भाई नदी में उतरने से पहले नावों में बैठे और अपने पत्नी और बच्चों को भी बैठा दिया और दूसरे नगर की ओर चल पड़ा

Read More-शिक्षा का महत्व कहानी

उसने सोचा कि मैंने इस थैले का इस्तेमाल अभी तक नहीं किया है मुझे इसका इस्तेमाल करना चाहिए और नगर में आने से पहले मुझे धन की आवश्यकता है इसलिए उसने सोचा कि मुझे बहुत सारा धन ले लेना चाहिए तभी उस आदमी ने हाथ डाला और कहा कि मुझे बहुत सारा धन मिल जाए और वह कभी खत्म नहीं होना चाहिए जब आदमी ने यह कहा तो उस थैले में से इतना सारा धन निकला कि धीरे-धीरे नाव डूबने लगी है और वह बड़ा भाई भी सबके साथ ही नदी में डूब गए इस तरह जीवन में हमें ऐसे कोई भी काम नहीं करने चाहिए जिससे दूसरों को परेशानी हो हमें जीवन में अच्छे कार्य ही करने चाहिए.

Read More-दोस्ती की नयी कहानी

जादुई थैले की कहानी (interesting story hindi) अगर आपको पसंद आयी है तो आप इसे शेयर जरूर करे और कमेंट करके हमे भी बताये.

Read More Hindi Story :-

Read More-अनमोल विचार की कहानी

Read More-घोडा गाड़ी वाले का लालच कहानी

Read More-जीवन की नयी कहानी

Read More-मज़बूरी की कहानी

Read More-आलसी की हिंदी कहानी

Read More-समय का खेल एक कहानी

Read More-एक अभिमानी की कहानी

Read More-भलाई कौन करेगा कहानी

Read More-बहादुरी की कहानी

Read More-अपने मन की बात की कहानी

One Response

  1. Anonymous 05/08/2018

Leave a Reply

error: Content is protected !!