Manohar kahaniya in hindi, पत्नी का इंतज़ार मनोहर हिंदी कहानी

Manohar kahaniya in hindi

Manohar kahaniya, पत्नी का इंतज़ार मनोहर हिंदी कहानी, यह मनोहर कहानी एक पत्नी की है, जोकि हमेशा परेशान रहती थी, उसे लगता था, की उसकी जिंदगी में कुछ हंसी के पल आ सकते है, मगर ऐसा कुछ भी नहीं था, घर में वह दोनों पति और पत्नी उनके साथ दस साल का एक बेटा था, वह पत्नी यही सोचा करती थी घर के काम के सिवाए दिन में कोई भी समय ऐसा नहीं है, जिस समय को वह बहुत अच्छे से जी सकती है, पति हमेशा की तरह अपने ऑफिस निकल जाते है,

Manohar kahaniya in hindi :- Manohar kahaniya in hindi

Manohar kahaniya
Manohar kahaniya

Manohar kahaniya, उसके बाद बेटे को तैयार करके उसे स्कूल भेजना होता है, काम करते हुए दोपहर हो जाती है, मगर कुछ भी समझ नहीं आता है, शादी को बहुत साल बीत गए है, but कोई भी ऐसा समय नहीं आया है, जिससे वह एक अच्छा पल निकाल सके, जिस दिन दोनों घर में रहते है, वह दिन अधिक काम वाला बन जाता है, Because उन दोनों के बहुत काम हो जाते है, उन्हें पूरा करते हुए दिन निकल जाता है, यह जिंदगी अच्छी तो है, मगर उसमे ख़ुशी नहीं है, किसी बात की कोई कमी नहीं है, but फिर भी लगता है, कोई तो कमी है, क्योकि मन के अंदर कोई भी ख़ुशी नहीं है,

वक़्त-वक़्त की बात कहानी

जब इंसान का मन खुश नहीं होता है, वह तनाव में आ जाता है, तनाव के कारण बहुत सी समस्या बढ़ जाती है, जिसके बाद उससे बाहर आने में समय लग जाता है, ऐसा एक दिन हो गया था, उसकी तबियत आज अच्छी नहीं थी, वह सुबह जल्दी उठ नहीं पायी थी, आज कुछ भी नहीं हो पाया था, किसी का भी नाश्ता नहीं बन पाया था, बेटा तैयार नहीं हो पाया था, पति ने देखा की पत्नी आज उठ नहीं पायी है, शायद तबियत ठीक नहीं है, वह पूछता है की आज क्या हुआ है,

शिष्य और गुरु की कहानी

पत्नी ने कहा की आज तबियत अच्छी नहीं है, Because रात भर नींद न आने की वजह से शायद ऐसा हुआ है, पति को लग रहा था की आज उसे ऑफिस नहीं जाना चाहिए क्योकि तबियत बहुत अधिक बिगड़ सकती है, आज बेटा भी घर पर ही था, क्योकि आज सभी काम रुक गए थे वह दोनों डॉक्टर से मिले थे उसके बाद डॉक्टर कहता है की यह सब कुछ तनाव की वजह से हुआ था, तनाव लेने की वजह से यह समस्या आयी है, आपको अधिक तनाव नहीं लेना चाहिए,

अच्छी सोच की हिंदी कहानी

उसके बाद पति को पता चल पाता है, Because वह नहीं जानता है की यह सब कुछ कैसे हुआ है, वह समझ गया था की शायद अधिक काम की वजह से या फिर साथ में समय न बिताने की वजह से यह सब कुछ हुआ है, but यह जिंदगी भी बहुत उलझी हुई है, यहां पर किसी के पास भी समय नहीं होता है, मुझे भी ऑफिस के काम से बाहर रहना पड़ता है, मेरे पास भी समय नहीं है, सब कुछ साथ नहीं चल पाता है ऑफिस के काम अधिक होने की वजह से आज यह समस्या आयी है, अगर वह काम नहीं होंगे तो घर नहीं चल सकता है,

नयी रौशनी हिंदी कहानी

यह सब कुछ एक साथ कैसे होगा, पति भी जानता है, की पत्नी को समय चाहिए, but मेरे पास समय नहीं है, अभी तो वह अधिक नहीं कर सकता है, मगर वह जानता है, की कुछ समय देना चाहिए ऑफिस से कुछ दिन की छुट्टी लेने के बाद वह घूमने जाते है, यह मौका भी दस साल में एक बार ही आया था की वह तीनों घूमने गए थे शायद यह बिताए पल अच्छे हो सकते है सब कुछ अच्छा भी हो गया था, क्योकि उसके बाद पत्नी के चेहरे पर ख़ुशी नज़र आती है,

जीवन में कामयाबी कहानी

आज पति को भी लग रहा था, की जीवन में हम सभी को सभी काम करने चाहिए but यह भागदौड़ की जिंदगी ने सभी का समय ले लिया है, सभी परेशान है, मगर कुछ पल पल आपको भी अपने समय से निकाल लेने चाहिए, आपको भी अपनी जिंदगी को आसान बनाना चाहिए, अगर आपको यह मनोहर कहानिया , manohar kahaniya in hindi पसंद आयी है, तो आप शेयर कर सकते है,       

Read More Manohar Kahaniya :-

वक़्त की हिंदी कहानी

गलती मेरी थी हिंदी कहानी

भविष्य आपके हाथ में कहानी

एक पहली कोशिश की कहानी

आपस की बात कहानी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!