वक़्त-वक़्त की बात कहानी, kahani story hindi

kahani story hindi

वक़्त-वक़्त की बात कहानी, (kahani story hindi), यह कहानी हमे यही बताती है की कामयाबी मिलने पर हमे कभी भी बदलना नहीं चाहिए क्योकि एक वक़्त ऐसा भी था जिसमे तुम कभी थे, थोड़ा सोचकर जरूर देखिये.

वक़्त-वक़्त की बात कहानी : kahani story hindi

hindi story.jpg

kahani story hindi

सुधांकर की बात सुनकर थोड़ा अजीब आग रहा था, क्योकि आज वह पूरी तरह से बदल गया था, सुजीत पहली बार सुधांकर से मिलने आया था, मगर उसे बदला हुआ देख सुजीत ने कहा की आज तुम बहुत बदल गए हो, सुधांकर ने कहा की वक़्त-वक़्त की बात है, जब हमारा वक़्त नहीं था, लेकिन आज मेने कामयाबी को पा लिया है इसलिए बदलाव तो आ ही जाता है, मगर सुजीत को अच्छा नहीं लग रहा था, क्योकि अगर हम कामयबी से बलाव लाते है मगर उस बदलाव से हम दुसरो के लिए बदलते है तो यह अच्छा नहीं होता है,

 

सुधांकर को इस बात से कोई मतलब नहीं पहले सुधांकर एक कम्पनी में काम कर रहा था, मगर उसे कुछ लाभ नहीं हो रहा था, कुछ समय बाद उसने अपनी एक कम्पनी खोल ली थी, जिससे उसे बहुत ज्यादा फायदा हो गया था, मगर सुजीत उसी कम्पनी में काम कर रहा था उसे लग रहा था की सुधांकर ने यह सब अपनी मेहनत से किया था मगर शायद ऐसा लग रहा था की उसने किसी की मदद यहां पर ली थी, बात क्या थी वह सुजीत को पता नहीं था, सुजीत यही कह रहा था की हमे अपने व्यवहार में बदलाव नहीं लाना चाहिए क्योकि जैसे तुम पहले थे वैसे बहुत अच्छे थे मगर अब ऐसा नहीं है,

Read More-खेल-खेल में कहानी

सुधांकर ने कहा की अगर तुम्हे ऐसा लगता है तो तुम यहां से जा सकते हो, यह बात सुनकर सुजीत को आज बिलकुल भी अच्छा नहीं लगा रहा था सुधांकर उसका बहुत अच्छा दोस्त था, उसके साथ उसे काफी वक़्त बिताया था, मगर आज उसकी बाते अच्छी नहीं लग रही थी, सुजीत वहा से चला जाता है, उसके बाद सुजीत कभीभी उसके पास नहीं जाता है, समय बीतता चला गया था, सुजीत एक दिन रात को खाना खाने वाला ही था की दरवाजे पर दस्त होती है,

Read More-बीरबल की कहानी

Read More-कुछ पल में सब बदल गया कहानी

सुजीत ने दरवाजा खोला सामने सुधांकर खड़ा था, अपने दोस्त को देखकर सुजीत बहुत खुश हो गया था, उसने कहा की इतने दिनों बाद आये हो अंदर आ जाओ, सुधानकर ने माफ़ी मांगी थी, मगर सुजीत कुछ भी नहीं समझा था वह कहने लगा की तुम ऐसा क्यों कर रहे हो, अगर तुम अंदर से सुधरना चाहते हो तो सब कुछ ठीक हो जाएगा, सुजीत ने सौधन्कर के लिए खाना लगाया था, दोनों ने साथ में खाना खाया और सुधांकर ने कहा की तुम बहुत अच्छे हो,

Read More-बच्चों का खेल कहानी 

Read More-शिष्य और गुरु की कहानी

तुम सही कहते हो की कामयाबी मिलने पर हम बदल जाते है मगर ऐसा नहीं करना चाहिए जबकि बदलाव अगर लाना है तो अपने जीवन में लाना चाहिए कामयाबी से बदलाव नहीं आना चाहिए, मेने जिसके साथ कम्पनी खोली थी वह कम्पनी को बेचकर चला गया है और अब मेरे पास कोई भी काम नहीं है, अगर तुम कोई भी काम मेरे लिए ढूढ़ते हो तो तभी सुजीत कहता है की इसमें कोई भी परेशानी नहीं है में तुम्हारे लिए यह सब कुछ कर सकता हु,

Read More-अच्छी सोच की हिंदी कहानी

Read More-अकबर की परेशानी कहानी

मगर एक बात हमेशा याद रखना की कभी भी जीवन में ऐसा काम नहीं करना है जिससे किसी को बहुत दुःख पहुंचे क्योकि इससे बहुत दर्द होता है, शायद वह अपने दोस्त की बात को समझ गया था, उसके बाद दोनों दोस्त फिर से एक साथ में हो गए थे, हमे भी ऐसा नहीं करना चाहिए जिससे किसी को भी तकलीफ पहुंचे.

Read More-नयी रौशनी हिंदी कहानी

Read More-जीवन में कामयाबी कहानी

Read More-नया साल एक कहानी

अगर आपको यह वक़्त-वक़्त की बात कहानी, (kahani story hindi) कहानी पसंद आयी है तो जरूर शेयर करे और हमे भी बताये, 

Read More Hindi Story :-

Read More-गलती मेरी थी हिंदी कहानी

Read More-भविष्य आपके हाथ में कहानी

Read More-जादुई छड़ी की कहानी

Read More-एक पहली कोशिश की कहानी

Read More-आपस की बात कहानी

Read More-एक जंगल की कहानी 

Read More-वहा कोई नहीं जाता हिंदी कहानी

Read More-रास्ते की बात हिंदी कहानी

Read More-अद्भुत भाषा का ज्ञान कहानी

Read More-बदलते विचार हिंदी कहानी

Read More-भाग्य और मेहनत की कहानी

Read More-बीरबल और हीरे की कहानी

Read More-एक योद्धा की कहानी

Read More-मैं यहां हू हिंदी कहानी

Read More-सपनों की हिंदी कहानी

Read More-एक पेड़ की कहानी

Read More-रिश्तों के बदलते मायने कहानी

Read More-घबराहट का सामना हिंदी कहानी

Read More-बच्चों की कहानी

Read More-जीवन में आया बदलाव कहानियाँ

Read More-जादुई थैले की कहानी

Read More-अब क्या होगा कहानी

Leave a Reply

error: Content is protected !!