सपनों की हिंदी कहानी, story in hindi

story in hindi

सपनों की हिंदी कहानी, (story in hindi), जीवन में सभी लोग सपने देखते है, कुछ लोग इन पर ध्यान नहीं देते है, मगर कुछ लोग इन्हे अपनी जिंदगी में अपना लेते है, उन्हें सपने बहुत ज्यादा पसंद आते है, वह सपनों में ही जीने लगते है, यह कहानी आपको पसंद आएगी, 

सपनों की हिंदी कहानी : story in hindi

hindi story.jpg

story in hindi

वह हर रोज सपने देखा करता था, वह सपनों में यही सोचा करता था कि अगर मुझे यह मिल जाए तो मेरा जीवन ही बदल जाएगा लेकिन यह बात बहुत ही कम लोग जानते हैं कि सपने बहुत मुश्किल से पूरे होते हैं लेकिन उसे सपना देखना बहुत अच्छा लगता है क्योंकि सपने में वह  कुछ भी कर सकता था सपने ही उसके लिए बहुत महत्वपूर्ण हो गए थे सपने देखने के लिए वह हमेशा जल्दी सो जाया करता था वह देर तक सोता रहता था क्योंकि सपने उसे बहुत अच्छे लगते थे

 

एक दिन सपने में उसने देखा कि मुझे एक ऐसी चीज मिली है जिससे मैं कुछ भी कर सकता हूं और कोई भी चीज मंगवा सकता हूं इसलिए मैं बहुत ही खुश हो रहा था उसे ऐसा लग रहा था कि मैं जीवन को बदलने के लिए तैयार हूं सपने में उसने देखा कि मैं बहुत सी चीजों को लेकर आया हूं यह जादुई चीज मेरे लिए बहुत ही जरूरी हो गई है सब कुछ कर सकता हूं सपने देखते वक्त उसे बिल्कुल भी ध्यान नहीं था कि वह सपने में है और यही सोच रहा था कि यह सब कुछ हकीकत में हो रहा है और उसे बहुत अच्छा लग रहा है

Read More-मुलाकात की हिंदी कहानी

वह सपने इसीलिए देखता था क्योंकि सपने में कुछ भी कर सकता था जबकि हकीकत में ही उससे कुछ भी नहीं होता था वह कोई भी काम नहीं करता था उसका जीवन बहुत ही सीधा सादा था वह हर रोज दुकान पर जाया करता शाम को घर वापिस आ जाया करता था क्योंकि उसे सपने देखने होते थे अपने सपनों को वह इतना पसंद करता था कि कभी-कभी दुकान पर सो जाया करता था और इससे दुकान के सामान को बहुत ज्यादा हानि होती थी उसके पिताजी समझाए करते थे कि तुम्हें ऐसा नहीं करना चाहिए

Read More-राजा और जादूगर की हिंदी कहानी

अगर तुम्हें ऐसा ही करते रहे तो हमारी दुकान का सामान एक दिन सारा चोरी हो जाएगा तुम सोते रहोगे तुम्हें यह आदत सुधार लेनी चाहिए लेकिन उस पर किसी भी बात का असर नहीं पड़ता था मैं तो अपने सपनों को पसंद करता हूं 1 दिन दुकान पर बैठा हुआ सो रहा था तब उसके पिताजी आए और उन्होंने देखा कि है तो दुकान पर सो गया है और इस तरह तुम्हारी दुकान को बहुत ज्यादा नुकसान हो सकता है उसके पिताजी को कुछ भी समझ में नहीं आ रहा था कि मैं उसकी आदत को कैसे सुधार सकूं क्योंकि वह बहुत ज्यादा कह चुके थे लेकिन वह सुनने को तैयार ही नहीं था तभी जब शाम को घर आया तो उसके पिताजी ने बोला कि तुम ऐसा कब तक करते रहोगे अगर तुम जीवन में कभी भी सही तरीके से कार्य नहीं करोगे तो जीवन में कभी भी अच्छे नहीं बन पाओगे

Read More-सरल जीवन की हिंदी कहानी

तुम्हें यह आदत बदलनी चाहिए अगर तुम सोते रहे तो जीवन में क्या कर पाओगे इन सभी बातों के अलावा भी तुम्हें सोचना चाहिए कि अगर तुम सोते रहे तो जीवन में तो कुछ नहीं कर सकते कुछ देर बाद अपने पिताजी की बातें सुनकर कमरे के अंदर चला गया सो गया उस पर कोई भी असर नहीं पड़ा रहा उसके पिताजी को हमेशा चिंता लगी रहती थी कि इसका हम क्या कर सकते हैं यह कैसे सुधर सकता है कुछ भी समझ में नहीं आ रहा था उसके पिताजी तो यह भी नहीं समझ पा रहे थे कि सपनों में ऐसा क्या होता है जो इसे बहुत पसंद आता है और यह सपनों को हमेशा ही देखा करता है

Read More-अच्छी सोच की हिंदी कहानी

ऐसा भी माना जाता है कि बहुत से लोगों को सपने पसंद होते हैं क्योंकि हकीकत में ऐसा कुछ भी नहीं कर पाते जो लोग हकीकत में कुछ नहीं कर सकते और सपनों में वह बहुत कुछ कर सकते हैं तो उन्हें सपने हमेशा पसंद आते हैं सुबह उठा और तैयार होकर दुकान की ओर चला गया और उसके पिताजी उसकी ओर देख रहे थे क्योंकि वह समझा कर थक चुके थे लेकिन मैं समझने को बिल्कुल भी तैयार नहीं था दुकान पर पहुंचा हूं कुछ देर बाद ही वह सो गया और उसे काफी गहरी नींद आ गई कुछ लोग वहां सामान लेने के लिए आए हुए थे तभी उन्होंने देखा कि वह सो रहा है वह उसके दुकान से सारा सामान उन्होंने ले लिया

Read More-एक जंगल की कहानी 

इस तरह उसके दुकान से सारा सामान चोरी हो गया था दुकान में कुछ भी नहीं बचा था उधर उसके पिताजी उसे देखने के लिए दुकान की ओर आ रहे थे तभी उन्होंने देखा कि वह सो रहा है और दुकान में सामान नहीं था तभी उन्होंने उसे जगाया और कहा कि देखो सारा सामान चोरी हो गया और इसी वजह से मैं तुम्हें कहा जब उसकी आंख खुली उसने देखा कि दुकान पर एक भी समान नहीं है उसका सामान सारा चोरी हो चुका है तो उसे बड़ा दुख हुआ लेकिन वह अपनी आदत से बहुत ज्यादा मजबूर हो गया था और सोने की कोशिश करता था तभी उसे नींद आ जाती थी और उठ नहीं पाता था

Read More-भाग्य और मेहनत की कहानी

इस तरह उसके पिताजी ने समझाया कि मैं इसलिए तुम्हें हर बार कहता था कि अगर तुम ध्यान नहीं दोगे तो 1 दिन ऐसा जरूर आएगा जिस दिन बहुत बड़ा नुकसान होगा और आज नुकसान हो गया है शायद वह धीरे-धीरे से समझ चुका था उसे अपनी गलती का एहसास हो गया था कि हमें जीवन में सपनों से कुछ नहीं मिलता अगर हमें जीवन में कुछ करना है तभी हम उन सपनों को पूरा कर सकते हैं सपने देखने से पुरे नहीं होते सपनों के लिए मेहनत करनी पड़ती है जो व्यक्ति जीवन में मेहनत करता है तभी सपनों को पूरा कर सकता है.

Read More-एक पेड़ की कहानी

सपनों की हिंदी कहानी, (story in hindi), अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो आप इसे शेयर जरूर करे और हमे भी बताये, 

Read More Hindi Story :-

Read More-रिश्तों के बदलते मायने कहानी

Read More-घबराहट का सामना हिंदी कहानी

Read More-बच्चों की कहानी

Read More-जीवन में आया बदलाव कहानियाँ

Read More-जादुई थैले की कहानी

Leave a Reply

error: Content is protected !!
+