घबराहट का सामना हिंदी कहानी, hindi ki kahani

hindi ki kahani

घबराहट का सामना हिंदी कहानी, (hindi ki kahani) यह कहानी हमारे जीवन में आयी परेशानी को दूर करने में सहायक होती है, आपको यह कहानी पसंद आएगी,

घबराहट का सामना हिंदी कहानी : hindi ki kahani

hindi kahani.jpg

hindi ki kahani

वह लड़का हमेशा ही बहुत ज्यादा डरता था उसके डरने का कारण ही अंधेरा ही था. अगर किसी जगह पर बहुत ज्यादा अंधेरा होता है लड़का उस अंधेरे में बिल्कुल भी नहीं जाता है उस लड़के के माता-पिता हमेशा समझाया करते थे कि कभी भी अंधेरे से नहीं डरना चाहिए अगर तुम ऐसा करते हो तो तुम हमेशा जीवन में डरते ही रहोगे

 

तुम्हें अगर अपने जीवन का अंधेरा भी दूर करना है तो भी तुम्हें डरना नहीं है उस का मुकाबला करना है और आगे बढ़ते रहना है तभी तुम जीवन में सफल हो पाओगे लेकिन बातें करने से डर नहीं जाता है यह बात सभी जानते हैं जब तक आप डर के पार नहीं जाओगे जब तक आप हमेशा डरते रहेंगे 1 दिन उसके माता-पिता ने सोचा कि हमें इस डर बाहर निकालना होगा तभी यह जीवन में आगे बढ़ पाएगा नहीं तो हमेशा डर से डरता ही रहेगा

 

1 दिन में सभी लोग यह कहने लगे कि हमें किसी काम से बाहर जाना है और हमें आने में 2 दिन लगेंगे इसलिए तुम्हें यहीं पर अकेले रहना होगा हम 2 दिन बाद घर पर आ जाएंगे लड़के ने कहा कि मुझे घर पर बहुत ज्यादा डर लगता है इसलिए आप कहीं पर मत जाइए तभी उसके माता-पिता कहने लगे कि हम एक बहुत जरुरी काम है इसलिए हमें बाहर तो जाना ही होगा इतना कहकर माता-पिता दोनों काम से बाहर निकल गए

Read More-इंसानियत की एक कहानी 

 जब शाम हो गई तो उसके माता-पिता घर के पास ही थे क्योंकि वह जानते थे कि वह बहुत ज्यादा डरता है इसलिए उसका डर निकालने के लिए उन्होंने एक योजना बनाई थी अचानक ही उन्होंने बाहर से बिजली को बंद कर दिया था जैसे ही बिजली गई अंधेरा चारों ओर छा गया और लड़के को बहुत ज्यादा डर लग रहा था इसलिए खिड़की खोलकर बाहर देखने लगा उसने देखा कि बाहर तो सभी के यहां पर बिजली आई हुई है लेकिन मेरे यहां पर बिजली नहीं है इसलिए अंधेरे में डरता हुआ नीचे की ओर आया तभी उसने देखा कि बाहर से मैंन स्विच बंद हो गया है

Read More-सरल जीवन की हिंदी कहानी

उसने मैंन स्विच खोला और बिजली आ गई और घर के अंदर चला गया जब अंधेरा हुआ था तब उसके माता-पिता घर में चले गए थे और अंदर बेसमेंट में जाकर छुप गए थे जिससे कि वह देख सके कि उनका लड़का क्या करेगा उसके बाद दोनों ने बेसमेंट में आवाज करनी शुरू की तभी वह लड़का बहुत ज्यादा घबरा गया था उसे बहुत ज्यादा डर लग रहा था लेकिन घर में अकेला था इस बात को जानता था इसलिए डरता हुआ बेसमेंट की ओर जाने लगा

Read More-अच्छे सेवक की हिंदी कहानी

बेसमेंट में लाइट नहीं थी लेकिन फिर भी बेसमेंट में चला गया और बेसमेंट में जाकर उसने एक मोमबत्ती जलाई और चारों ओर देखने लगा कि आवाज कहां से हो रही है जबकि वहां पर अंधेरा था फिर भी वह लड़का यह देखने के लिए तैयार था कि बेसमेंट में क्या हो रहा है उसके बाद उसने अपने माता पिता को देखा और देखकर सोचने लगा कि आप यहां क्या कर रहे हैं आप तो काम से बाहर गए थे

Read More-राजा और जादूगर की हिंदी कहानी

तभी उसके माता-पिता कहने लगे कि हम यह देखना चाहते थे कि तुम नीचे आओगे या नहीं लेकिन हमने देखा कि तुम नीचे आ गए हो इसका मतलब यह है कि तुम अंधेरे से घबराते हो डरते नहीं हो इसलिए तुम्हारा यह घबराना धीरे-धीरे दूर हो जाएगा जीवन में अनेक तरह की परेशानियां आती है लेकिन उन परेशानियों को दूर करने के लिए आपको कोशिश करनी चाहिए जब आप कोशिश करते हैं तो धीरे-धीरे परेशानियां भी दूर होने लगती हैं.

Read More-डरावने कुए की कहानी

Read More-अद्भुत घटनाएं

घबराहट का सामना हिंदी कहानी, (hindi ki kahani) यह जानकारी आपको कैसी लगी हमे जरूर बताये, अगर आप कुछ भी पूछना चाहते है, तो आप पूछ सकते है, अपनी राये हमे जरूर दे, 

Read More Hindi Story :-

Read More-बच्चों की कहानी

Read More-जीवन में आया बदलाव कहानियाँ

Read More-जादुई थैले की कहानी

Read More-मेरी हिंदी कहानी

Read More-बोलने वाले तोते की कहानी

Read More-राजकुमार का लक्ष्य हिंदी कहानी

Read More-पुरानी यादें हिंदी कहानी

Read More-सही ज्ञान की कहानी

Read More-उम्मीद की नयी किरण कहानी

Read More-क्या आप जानते है हिंदी कहानी

Read More-तीन चूहों की कहानी

Read More-दोस्ती की नयी कहानी

Read More-शिक्षा का महत्व कहानी

Read More-अनमोल विचार की कहानी

Read More-घोडा गाड़ी वाले का लालच कहानी

Read More-जीवन की नयी कहानी

Read More-मज़बूरी की कहानी

Read More-आलसी की हिंदी कहानी

Read More-समय का खेल एक कहानी

Read More-एक अभिमानी की कहानी

Read More-भलाई कौन करेगा कहानी

Read More-बहादुरी की कहानी

Read More-अपने मन की बात की कहानी

Leave a Reply

error: Content is protected !!