भाग्य और मेहनत की कहानी, story in hindi

story in hindi

भाग्य और मेहनत की कहानी, (story in hindi) अगर आप जीवन में मेहनत करते है तो आपका भाग्य अपने आप ही अच्छा हो जाता है, हमे उसे अच्छा करने की जरूरत नहीं होती है, यह हमारी मेहनत पर चलता है, इसलिए जीवन में मेहनत बहुत जरुरी होती है, हमे उम्मीद है आपको यह कहानी पसंद आएगी,

भाग्य और मेहनत की कहानी : story in hindi

hindi story.jpg

story in hindi

वह बहुत ही अच्छा लड़का था अपने जीवन में कामयाब होने के लिए वह लगातार मेहनत कर रहा था उसने अभी हाल ही में पढ़ाई पूरी की थी अब वह किसी नौकरी की तलाश करने के लिए बहुत मेहनत कर रहा था उसे लगता था कि अगर हम मेहनत करते हैं तो जीवन में जरूर सफल होते हैं और इस बात को भली भांति जानता था इसलिए उसने अपनी पढ़ाई बहुत अच्छी तरीके से की थी

 

उसके साथ उसका एक दोस्त रहता था वह कहता था कि हमें नहीं पता कि हम जीवन में क्या बन पाएंगे इसलिए हमें ज्यादा मेहनत करने की जरूरत नहीं है लेकिन अशोक को यह लगता था कि मेहनत करने से ही सब कुछ हो सकता है क्योंकि जानता था कि उसके पिताजी खेत में बहुत मेहनत करते हैं तभी तो हम फसल उगा पाते हैं अगर वह मेहनत नहीं करते हैं तो हमें खाने के लिए भी नहीं मिल रहा है लेकिन अशोक के दोस्त को इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी

Read More-अच्छी सोच की हिंदी कहानी

वह तो यह समझता था कि हमें जो मिलता है वह भाग्य से मिलता है हमारे भाग्य में होगा तभी हम कुछ कर पाएंगे नहीं तो कुछ भी नहीं हो सकता लेकिन अशोक नहीं मानता था वह यह जानता था कि भाग्य एक अलग चीज है और मन लगाकर मेहनत करते हैं तो अपना भाग्य बना सकते हैं अगर मेहनत नहीं करते हैं तो इसमें हमारा भाग्य क्या कर सकता भाग्य भी तभी बनता है जब हम मेहनत करते हैं अगर मेहनत नहीं करेंगे तो वह भी कुछ नहीं कर पाएगा अशोक को 2 साल की मेहनत के बाद उसे एक अच्छा फल प्राप्त हो गया था

Read More-अच्छे सेवक की हिंदी कहानी

उसकी मेहनत वसूल हो गई थी और उसे एक अच्छी नौकरी भी मिल गई थी जिस पर वह आराम से अपना जीवन व्यतीत कर सकता था अशोक के दोस्त ने कहा कि या तो तुम्हारे भाग्य में था जब तुम्हें नौकरी मिल गई लेकिन अशोक ने कहा कि भाग्य को जगाने के लिए मेहनत करनी पड़ती है अगर हम मेहनत नहीं कर पाएंगे तो भाग्य कैसे जागेगा अशोक का दोस्त आज भी बगैर नौकरी के घूम रहा था क्योंकि उसने मेहनत नहीं की थी पर भाग्य के भरोसे बैठा था और भाग्य भी तभी जागता है जब हम मेहनत करते हैं

Read More-राजा और जादूगर की हिंदी कहानी

यह बात अशोक के दोस्त को पता चल चुकी थी सभी को लगता है कि भाग्य ज़रूरी है और हम भी सभी यह जानते हैं कि भाग्य बहुत जरूरी होता लेकिन भाग्य को जगाने के लिए तो हमें मेहनत करनी ही पड़ेगी अगर मेहनत नहीं करेंगे तो हमारे भाग्य पर इसका बुरा असर पड़ेगा इसलिए कभी भी भाग्य के भरोसे नहीं बैठना चाहिए मेहनत करनी चाहिए अगर तुम मेहनत करते हो तो भाग्य अपने आप ही खुलता चला जाता है जिससे आपको जीवन में सफलताएं प्राप्त होती है.

Read More-सरल जीवन की हिंदी कहानी

भाग्य और मेहनत की कहानी, (story in hindi) अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो आप इसे शेयर जरूर करे और कमेंट करके हमे भी बताये, अगर आपका कोई भी सवाल है, तो आप हमसे पूछ सकते है, हम आपके सवाल के जवाब जल्द ही देंगे, 

Read More Hindi Story :-

Read More-रिश्तों के बदलते मायने कहानी

Read More-घबराहट का सामना हिंदी कहानी

Read More-बच्चों की कहानी

Read More-जीवन में आया बदलाव कहानियाँ

Read More-जादुई थैले की कहानी

2 Comments

  1. sky777 apk
  2. ace 333

Leave a Reply

error: Content is protected !!