राजकुमार की रोचक कथाएं, rochak tathya

rochak tathya

राजकुमार की रोचक कथाएं (rochak tathya, rochak post) आपको पसंद आएगी, इसमें हमे यह देखने को मिलता है की हमे कोई भी काम सोच विचार कर ही करना चाहिए,

राजकुमार की रोचक कथाएं : rochak tathya

rochak tathya.jpg

rochak tathya

साधु बाबा अपनी तपस्या कर रहे थे, वह अपने मंत्रो का उच्चारण कर रहे थे तभी अचानक ही वहा पर राजकुमार जोकि शिकार करने आया हुआ था, साधू जी से कुछ ही दुरी पर था राजकुमार को कुछ भी समझ नहीं आ रहा था, उसने उस साधु जी को हिरण समझकर तीर चला दिया था, तभी वहा से आवाज आयी और राजकुमार उधर ही चला गया था,

 

जब राजकुमार वहा पर गया था, तो साधु जी को वहा पर पाकर वह अपनी गलती पर पछताने लगा था, उसने साधु जी से अपनी गलती के लिए छमा मांगी थी, तभी साधु जी ने उससे कहा की तुम अपने शोख के लिए जानवरो को मारते हो, उसी की वजह से तुमने मुझ पर तीर चला दिया था, इसलिए में तुम्हे शाप देता हु की तुम कुछ देर बाद पत्थर के बन जाओगे, 

Read More-ज्ञान की बातें एक कहानी

अपनी सजा सुनकर वह राजकुमार साधु जी से अपनी गलती के लिए छमा याचना करने लग गया था, राजकुमार ने यह काम जानकार नहीं किया था, अब वह जीवन में कभी शिकार पर नहीं जाएगा, इस तरह उसने साधु जी से छमा मांगी, साधु जी ने कहा की ठीक है में तुम्हारी सजा को खत्म तो नहीं कर सकता मगर कम जरूर कर सकता हु,

Read More-एक चोर की हिंदी कहानी

साधु जी ने कहा की शाप ऐसा होता है जिस तरह धनुष से निकला तीर अपने स्थान पर चला जाता जाता है उसी तरह शाप भी है वह भी एक बार मुख से निकलने के बाद वापिस नहीं होता है, लेकिन तुम्हारे इतना कहने पर तुम्हारा शाप जब समाप्त हो जाएगा, जब एक सच्चा इंसान का पैर पत्थर को छुएगा, तभी तुम इंसान के रूप में आ जाओगे, और कुछ देर बाद वह राजकुमार पत्थर बन जाता है, 

Read More-एक समझदारी की कहानी

समय बीतता चला गया मगर कोई भी सच्चा इंसान नहीं आया था, उधर राजकुमार को ढूढ़ते हुए सैनिक भी आये वह राजकुमार को खोजते हुए उस जगह पर भी आये थे लेकिन राजकुमार अब पत्थर का बन चुका था, वह उसे देख नहीं सकते थे, वह भी वापिस लोट गए थे, तभी एक इंसान जिसके पास बैलगाड़ी थी, वह उस पत्थर को उठाने लगा क्योकि उसे उसकी जरूरत थी,

Read More-समय पर नहीं आया एक कहानी

वह उसे लेकर चल दिया था, जब वह गांव में पहुंचा तो उसने वह पत्थर नीचे उतारा और अपनी बैलगाड़ी के पास रख दिया था, जिससे उसकी बैलगाड़ी नीचे की और न जा सके, राजकुमार सब कुछ देख रहा था, मगर एक पत्थर कुछ भी नहीं कर सकता था, वह उस समय का इंतज़ार कर रहा था, जब एक सच्चा इंसान उसकी मदद कर सकता था,   

Read More-दादी की एक छोटी कहानी

समय और बीत गया था राजकुमार के गम में राजा और रानी भी धीरे-धीरे बीमार पड़ चुके थे, राजकुमार को उन्होंने काफी साल से नहीं देखा था, राजा और रानी भी अब बूढ़े हो रहे थे, पर राजकुमार का इंतज़ार वो अभी भी कर रहे थे, एक दिन बैलगाड़ी वाले के यहां पर एक साधु जी आये उन्होंने उससे भिक्षा मांगी,

Read More-भागते रहो हास्य कहानी

बैलगाड़ी वाला और कहने लगा था, की अभी तुम बहार ही रुको में अभी कुछ लेकर आया, तभी साधु जी ने उस पत्थर को पैर से छू लिया था, उनके छूटे ही वह राजकुमार अपने रूप में आ गया था, राजकुमार का समय तो वही ठहर गया था, जब वह अपने रूप में आये तो वह अभी भी ऐसे ही लग रहे थे जैसे वो आज है,

Read More-हास्य राजा की कहानी

राज कुमार ने उनके पैर छुए और अपने बारे में सब कुछ बता दिया था, साधु जी ने कहा की तुम्हे अपने घर जाना चाहिए सभी लोग तुम्हारा इंतज़ार कर रहे होंगे, महल की बात सुनकर राजकुमार वहा से चला गया था, महल जाकर जब राजा और रानी ने राज कुमार को देखा तो उन्हें ऐसा लगा की अब उनका जीवन वापिस लोट रहा था,

Read More-घोड़े की हास्य कहानी

राजकुमार के गम में दोनों बहुत परेशान थे, अब वह धीरे-धीरे ठीक होने लगे थे, राजकुमार ने सारी बात बताई और इस तरह हमे यह पता चलता है की चाहे गलती अनजाने में हुई हो लेकिन दुःख सभी को होता है, इसलिए जीवन में ऐसा काम नहीं करना चाहिए जिससे परेशानी का सामना न करना पड़े,

अगर आपको यह राजकुमार की रोचक कथाएं (rochak tathya, rochak post) पसंद आयी है तो आप इसे आगे भी शेयर करे और कमेंट करके हमे भी बताये.

Read More Hindi Story :-

Read More-दोस्ती की कहानी

Read More-समय का खेल एक कहानी

Read More-बीरबल की समझदारी

Read More-अकबर बीरबल की कहानी

Read More-अकबर का नया सवाल

Read More-बीरबल की नयी कहानियां

Read More-ढोंगी पुजारी की हास्य कहानी

Leave a Reply

error: Content is protected !!
जीवन की सच्ची कहानी -Click Here
+