समय पर नहीं आया एक कहानी, kahaniya

kahaniya

समय पर नहीं आया एक कहानी

hindi story.jpg

Hindi kahaniya

हिंदी कहानियां, हम सभी इंसान हैं लेकिन इंसानों से भी गलतियां हो जाया करती हैं अगर हम सही समय पर समझ जाएं तो बहुत अच्छा होता है अगर समय निकल गया तो उसे सुधारना बिलकुल भी नामुमकिन है हम समय को ना तो पकड़ सकते हैं और ना ही रोक सकते हैं समय के रहते हुए अगर हम आगे बढ़ते हैं

 

तो यह हमारे लिए बहुत अच्छा होता है समय पर हमें सभी काम करने चाहिए अक्सर नरेश देर से आया करता था उसके घर वाले उसे बहुत समझाते थे कि तुम्हें समय पर घर आ जाना चाहिए लेकिन वह किसी की भी बात सुनने को तैयार नहीं था नरेश हमेशा अपने दोस्तों के साथ आया करता था और  दोस्त उसे हमेशा ही देरी करवा देते थे नरेश जिस ऑफिस में काम करता था उसी ऑफिस के दोस्तों के साथ आया करता था

 

और वह उसे हमेशा से ही देरी करवा कर लाते थे एक दिन नरेश के माता पिता नरेश का इंतजार कर रहे थे क्योंकि रात के 11:00 बज चुके थे और वह अभी तक नहीं आया था जब रात और बीत गई तो उसके घर वाले भी चिंता करने लगे क्योंकि आज नरेश समय पर नहीं आया था नरेश को देखने के लिए उसके माता-पिता चारों ओर घूमने लगे और देखने लगे कि वह अभी तक क्यों नहीं आया है

 

तभी कुछ लोगों ने बताया है कि एक आदमी वहां पर बेहोश पड़ा हुआ है नरेश के माता पिता उसके पास पहुंचे और उसे अस्पताल पहुंचाया क्योंकि वह बेहोश हो गया था जब नरेश को होश आया तो उसने बताया कि जब वह आ रहा था तो कुछ लोगों ने उसे पकड़ कर पीट दिया उसका सामान लेकर चले गए और वहीं पर बेहोश हो गया इसलिए वह घर नहीं पहुंच सका था

 

हिंदी कहानियां, इस बार नरेश को समझ में आ गया था कि अगर वह समय पर आता तो कितना अच्छा होता आज उसके साथ ऐसा नहीं हुआ होता उसके माता-पिता सही राह दिखा रहे थे लेकिन मैं सुनने को तैयार नहीं था इसलिए दोस्तों अपने काम पर ही ध्यान देना चाहिए अगर हम दूसरों पर ज्यादा ध्यान देंगे तो हमारे काम हमेशा मुश्किल में पड़ जाएंगे और हो सकता है एक दिन हम खुद भी मुश्किल में पड़ जाए इसलिए अच्छा सोचो और सबके लिए अच्छा करो.

Read More Hindi Story :-

Read More- उसने की एक रोटी की मदद

Read More-ज्ञान की बातें एक कहानी

Read More-एक चोर की हिंदी कहानी

Read More-एक समझदारी की कहानी

Leave a Reply

error: Content is protected !!