गलत निर्णय की हिंदी कहानी, hindi kahani

hindi kahani

हमे कभी भी जल्द-बाजी में कोई फैसला नहीं लेना चाहिए क्योकि एक गलत फैसला हमेशा हमे परेशानी में डाल सकता है, यह कहानी गलत निर्णय की हिंदी कहानी, (hindi kahani) आपको पसंद आएगी,

गलत निर्णय की हिंदी कहानी : hindi kahani

hindi kahani.jpg

hindi kahani

पति और पत्नी में अक्सर किसी भी बात को लेकर झगड़े हो जाया करते थे, उस दिन भी यही बात चल रही थी, और पत्नी किसी कारण रूठ कर चली गयी थी, पति भी हर रोज के झगड़े से परेशान हो जाया करते है, पत्नी ने सोचा की आज में घर पर नहीं जयुंगी, हर रोज की लड़ाई से दो लोग परेशान हो गए थे,

 

पति भी अपने मन में विचा बना रहा था, की आज वह भी घर नहीं जाएगा, दोनों ही उस रात घर नहीं गए थे, अगले दिन दोनों ने यही सोचा की आज शाम तक घर पहुंच जाएंगे, तभी उसकी बात की गुणवत्ता देखी जायेगी,  शाम होने ही वाली थी, पति भी यही सोच रहा था, की अब चलने का वक़्त हो गया है, उधर पत्नी भी यही सोच रही थी, की आज उन्हें अक्ल आ जायेगी, दो एक सी ही बात को सोच रहे थे, 

Read More-अच्छी सोच की कहानी

Read More-सच्चे प्रेम की कहानी

पत्नी जब वापिस आ रही थी, तभी उन्हें एक साधु बाबा मिले और बाबा ने कहा की अपने घर जा रही हो, पत्नी ने कहा की आपको कैसे पता है, वह बोले की तुमने जो किया वो अच्छा नहीं किया था, हम सभी घर में झगड़ते है लेकिन अपना झगड़ा ज्यादा नहीं बढ़ाते है, ऐसा ही तुम्हे करना चाहिए था, तुम घर पर झगड़े करते लेकिन घर नहीं छोड़ना चाहिए था,

Read More-जीवन की सही राह

Read More-धन का लालच

पत्नी उस बाबा की बात को सुनकर चुप थी और उसे बाबा की बात भी बड़ी अजीब लग रही थी, वह सब उनके बारे में कैसे जानते थे, वह यह जानना चाहती थी लेकिन तब तक वह  बाबा जा चुके थे, पत्नी ने जयादा समय नहीं बिताते हुए घर की और जाने में तेजी दिखाई थी, वह जल्दी-जल्दी घर पहुंची और देखकर हैरान हो गयी थी,

Read More-बहादुरी की कहानी

Read More-भलाई कौन करेगा कहानी

पत्नी अब क्या कर सकती थी, वह घर के बहार ही बेथ गयी और रोने लगी थी, उसे अपनी गलती पर पछतावा हो रहा था, अगर वह झगड़ा नहीं करती तो ऐसा नहीं होता था, उसके रोने की वजह से बहुत से लोग वह पर आ गए थे कुछ देर बाद उसका पति भी आ गया था, और उसने भी वह नज़ारा देखा और सोचने लगा की हमे ऐसा नहीं करना चाहिए थे,

Read More-मन की कहानी

Read More-सूरज की कहानी

हम अपनी लड़ाई में सब कुछ भूल गए थे, इंसान अपनी लड़ाई में अच्छा-बुरा नहीं देख पाता है और उससे गलती हो जाती है, वह अपने घर का दरवाजा बंद करना भूल गए थे, और उसके घर में चोरी हो गयी थी, उन्हें बहुत नुक्सान हुआ था, अपनी लड़ाई में वह अपना ही नुक्सान कर बैठे थे, हमे कभी ऐसा काम नहीं करना चाहिए जिससे हमे ही नुक्सान हो,

अगर आपको यह गलत निर्णय की हिंदी कहानी, (hindi kahani) पसंद आयी है तो आप इसे शेयर करे और कमेंट करे और हमे भी बताये,

Read More Hindi Story :-

Read More-सच्ची सेवा-भाव की कहानी

Read More-दादी की एक छोटी कहानी

Read More-समय का खेल एक कहानी

Read More-बीरबल की समझदारी

Read More-अकबर बीरबल की कहानी

Read More-अकबर का नया सवाल

Read More-बीरबल की नयी कहानियां

Read More-ढोंगी पुजारी की हास्य कहानी

Read More-घोड़े की हास्य कहानी

Read More-इनाम का लालच एक कहानी

Read More-हिंदी कहानी बारिश की बूंदे

Read More-राजा का वादा एक कहानी

Read More-राजा और माली की कहानी

Read More-एक अच्छी मदद की कहानी

Read More-सच्चे भक्त की कहानी

Read More-गरीब परिवार की कहानी

Read More-कुछ ही पल में बहुत देखा कहानी

Read More-दूसरों के लिए कर्म

Read More-साधू और शिष्य की मोरल कहानी

Read More-लालच एक कहानी

Read More-सच्ची सेवा की कहानी

Read More-अली और बाबा की नयी कहानी

Read More-बचपन की कहानी

Leave a Reply

error: Content is protected !!