बच्चों की पाठशाला, story for kids in hindi

story for kids in hindi

बच्चों की पाठशाला, story for kids in hindi, अगर बच्चे शैतानी करते है, तो उन्हें समझना चाहिए अगर वह नहीं मानते है तो हमे इसके लिए कुछ अच्छे उपाए करने चाहिए.

बच्चों की पाठशाला, story for kids in hindi

kids story.jpg

story for kids in hindi

कुछ बच्चों ने पढ़ाई का मजाक बना रखा था, वह बिलकुल भी पढ़ाई नहीं करते थे जब भी वह पाठशाला में होते तो हमेशा की तरह ही सबको परेशान किया करते थे, अगर कोई भी बच्चा उनकी शिकायत कर देता था तो उसकी भी पिटाई कर देते थे यह दोनों बच्चे भोनू और मोलू थे, उनका मन पढ़ाई में कम शरारत में ज्यादा लगता था, एक दिन वह दोनों स्कूल के बहार खेल रहे थे तभी वहा पर शिक्षक आ जाता है वह कहता है, की तुम यहां पर खेल रहे हो जबकि अंदर पढ़ाई चल रही है,

 

आज तुम्हे इसकी सजा जरूर मिलेगी, वह दोनों ही डर चुके थे, क्योकि आज उन्हें सजा मिल गयी थी आज वह शाम को ही घर जाएंगे, अगर कोई भी घर से आता है तो उन्हें भी बताया जाएगा की तुम पढ़ते नहीं हो, स्कूल आने पर भी तुम दोनों खेलते ही हो, उसके बाद सभी बच्चे घर चले गए थे मगर यह दोनों स्कूल में ही रुके हुए थे जैसा की तय था वह दोनों शाम तक यहां पर रुकेंगे और जब शाम हो जायेगी उन्हें घर भेजा जाएगा, जब तक वह घर नहीं गए थे घर पर सभी परेशान हो गए थे,

Read More-राजा और भिखारी में बड़ा कौन

उन दोनों के माता-पिता कुछ देर बाद ही आ गए थे जब उन्हें पता चला की यह दोनों सजा के लिए यहां पर रुके है तो उन्हें भी बहुत गुस्सा आया था, वह दोनों को साथ ले गए थे और उन्हें यह भी कहा था की अगर तुम दोनों ऐसा ही करते रहे तो किसी को भी खाना नहीं मिलेगा, यह बात अच्छे से जान लो, अगर तुम समझते नहीं हो तो तुम्हे और भी सजा दी जा सकती है, वह दोनों बहुत ज्यादा डर चुके थे उन्होंने ने कहा की अब से ऐसा नहीं होगा, मगर किसी की भी बात पर यकीन नहीं हो रहा था,

Read More-पारस पत्थर की कहानी

वह हर बार ऐसा ही करते और हर बार भूल जाते ऐसा कब तक चलेगा, मगर शायद वह दोनों सच बोल रहे थे, अब वह दोनों खाना खाने लगे थे, उसके बाद जब सुबह स्कूल गए तो उस दिन वह दोनों ही शांत रहे थे, मगर वह दोनों कब तक शांत रहते है, यह कुछ देर बाद पता चल गया था, थोड़ी देर बाड़ी ही वह दोनों झगड़ने लगे थे, जब वहा पर शिक्षक आये तो कहने लगे की तुम कभी भी बात नहीं मानते हो, इसलिए तुम्हे आज सोचना पड़ेगा की तुम सुधरना चाहते हो या नहीं, अगर ऐसा ही होगा तो तुम्हे यहां से जाना होगा, 

Read More-इनाम का लालच एक कहानी

वह दोनों बहुत खुश हो गए थे अब उन्हें यही लग रहा था की उन्हें स्कूल नहीं आना होगा तभी उनके टीचर ने कहा की अब कल तुम्हे अपने माता-पिता के साथ में आना होगा, जब वह कल दोनों अपने माता-पिता के साथ आये तो उन्हें पता चला की उन्हें स्कूल में कोई नहीं पढ़ा सकता है क्योकि यह दोनों बहुत शरारत करते है, आप इन्हे घर पर ले जा सकते है, वह घर चले गए थे अब उन्हें सुधारना जरुरी हो गया था, उनके माता-पिता ने सोचा की हमे कोई उपाए करना होगा जिससे यह दोनों ठीक हो सकते है,

Read More-मंगू की आदत की कहानी

जब रात हुई तो अचानक ही बिजली चली गयी थी उसके बाद माता -पिता ने उन्हें भूत बनाकर डराया था जिससे वह कभी भी गलती न करे उसके बाद वह दोनों बहुत डर चुके थे उन्हें बताया गया की अगर तुम ऐसा ही करते रहे तो हम भूत कही पर भी आ सकते है वह दोनों अब बहुत ज्यादा डर चुके थे कुछ देर बाद बिजली आ गयी थी अब वह माता-पिता आये तो वह दोनों कहने लगे की यहां पर भूत आया था, पिता ने कहा की अगर तुम हर रोज शैतानी करते हो तो वह हर रोज आएंगे, उसके बाद वह कभी भी शरारत नहीं कर पाए और अच्छे से पढ़ाई करने लग गए थे,

Read More-राजा का वादा एक कहानी

Read More-राजा और माली की कहानी

Read More-एक अच्छी मदद की कहानी

कभी-कभी हमे ऐसा भी उपाय अपनाना चाहिए जिससे बच्चों में सुधार हो सके, बच्चों की पाठशाला कहानी, story for kids in hindi, यह कहानी अगर आपको पसंद आयी है तो इसे शेयर करे और हमे भी बताये,

Read More Hindi Story :-

Read More-अकबर बीरबल की कहानी

Read More-बीरबल की समझदारी

Read More-अकबर का नया सवाल

Read More-बीरबल की नयी कहानियां

Read More-ढोंगी पुजारी की हास्य कहानी

Read More-घोड़े की हास्य कहानी

Read More-राजा और साधू की कहानी

Read More-एक चोर की हिंदी कहानी

Leave a Reply

error: Content is protected !!
+