घर-घर की बातें हिंदी कहानी, kahani hindi

kahani hindi

घर-घर की बातें हिंदी कहानी, kahani hindi, यह कहानी एक घर की है, जिसमे सभी यही सोचते है की जो भी गलती होती है, उसमे दूसरे का ही कारण होता है, शायद कोई भी अच्छे से समझना नहीं चाहता है, यह कहानी हमे एक नयी सीख भी देती है.

घर-घर की बातें हिंदी कहानी : kahani hindi

kahani hindi.jpg

kahani hindi

घर अच्छा नहीं चल रहा था, सभी को ऐसा लगता था की गलती इसमें सभी की है मगर उस गलती को अगर हम सही कर देते है तो अच्छा होगा, मगर कोई भी अपनी गलती को मानने के लिए तैयार नहीं था, सभी यही कहते थे की हमने तो कुछ भी नहीं किया है इसमें हमारी कोई भी गलती नहीं है, मगर यह सही नहीं था, पिताजी ने कहा की अगर हमे अपने घर का माहौल ठीक रखना है तो हमे कुछ सोचना होगा, इस तरह तो कुछ भी नहीं होगा,

Read More-वक़्त-वक़्त की बात कहानी

पिताजी ने अपने दोनों बेटे को बुलाया और कहा की हम सभी तभी खुश रह सकते है जब हम छोटी-छोटी बात को बढ़ाये नहीं, तुम दोनों को यह अच्छी तरह समझना चाहिए की अगर हम छोटी बात को बहुत बढ़ाकर उसे बोलते है तो वह बात बढ़कर बहुत ज्यादा हो जायेगी और उसका पूरा असर हमारे घर पर ही पड़ेगा, अगर तुम उस बात को अनदेखा कर जाओगे तो अच्छा ही होगा, क्योकि हमे उन बातो से कुछ भी नहीं लेना है जो हमारे घर के माहौल को खराब कर सकती है, तभी छोटा लड़का कहता है की आप किन बातो के बारे में बात कर रहे है हमे समझ नहीं आ रहा है

Read More-कुछ पल में सब बदल गया कहानी

तभी पिताजी ने कहा की जब समय आएगा तो तुम्हे पता चल जाएगा, कुछ दिन तक ऐसा ही चलता रहा था पिताजी ने कहा की वह समय आ गया है जब तुमने मुझसे पूछा था की वह कौन सी बात है, तभी दोनों बेटे यही कहने लगे की आप यह क्या कह रहे है पिताजी ने कहा की अभी तुम्हे पता चल जाएगा, जब तीनो खाना खाने लगे तो उनकी सब्जी आज बहुत ज्यादा जल गयी थी, उसमे स्वाद नहीं आ रहा था पिताजी ने कहा की अब तुम दोनों क्या करोगे,

Read More-समय महान है कहानी

वह दोनों कहने लगे की इस बात के लिए उन्हें बताया जाएगा, की ऐसा करना ठीक नहीं है आज सब्जी पर उनका ध्यान नहीं है यह कोई खाना है इसमें कोई भी स्वाद नहीं आ रहा है तभी पिताजी कहते है की यही बता तुम दोनों को में समझना चाहता हु क्या इससे पहले ऐसा हुआ था क्या तुमने इस बात को गौर किया है क्या तुम्हारे सामने ऐसी सब्जी कभी आयी थी, वह दोनों कहने लगे की ऐसा पहली बार हुआ है जबकि पहले ऐसा नहीं हुआ था, तभी पिताजी ने कहा की किसी कारणवश ऐसा हो गया होगा, हो सकता है की उनका ध्यान नहीं गया हो, और यह सब हो गया है

Read More-पता नहीं कौन था कहानी

Read More-समय पर समझे हिंदी कहानी

अगर तुम दोनों इस बात को लेकर झगड़ा करते हो तो यह अच्छा नहीं है यही छोटी बाते हमारे घर का माहौल खराब करती है क्योकि इस बात को लेकर तुम पूछोगे, इससे क्या होगा, शायद तुम्हे पता नहीं है उनको बुरा लग जाएगा जबकि यह सब उन्होंने जानभूझकर नहीं किया है यह बात तुम्हे समझनी चाहिए, तुम देखोगे की इस बात के बाद बहुत बड़ा बदलाव आएगा, तुम्हारे कहने से पहले ही वह दोनों समझ जाएंगे की आज का खाना अच्छा नहीं बना है इसलिए तुम्हे शांत रहना चाहिए, कुछ बातो को समझना बहुत जरुरी होता है यह जरुरी नहीं है की सभी बातो को बताया जाए,

Read More-ईमानदारी की नयी कहानी

Read More-ये मेरा फैसला है हिंदी कहानी

अब दोनों समझ चुके थे की उन्हें क्या समझाया गया है वह इस बात को आगे भी ध्यान रखेंगे और अपने घर में शान्ति बनाएंगे, घर-घर की बातें हिंदी कहानी, kahani hindi, अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो आप इसे शेयर जरूर करे और कमेंट करके हमे भी बताये.

Read More Hindi Story :-

Read More-जीवन की परेशानियां

Read More-विश्वास से सब कुछ होता है

Read More-एक अजीब घटना की कहानी

Read More-जीवन की बदलती बातें कहानी

Read More-गलती मेरी थी हिंदी कहानी

Read More-भविष्य आपके हाथ में कहानी

Read More-अनजाने सफर की कहानी

Read More-एक सफर की कहानी

Read More-दादी माँ की कहानियां

Read More-दादा जी की बातें

Leave a Reply

error: Content is protected !!
+