सब आसान नहीं होता प्यार की कहानी, Not all easy love stories in hindi

Not all easy love stories in hindi | Love story in hindi

सब आसान नहीं होता प्यार की कहानी : love stories in hindi, संजीव के प्यार की कहानी, (love stories hindi), संजीव उस लड़की को बहुत समय से जानता था उसे यही लगता था की वह अपने प्यार (love story in hindi) में कामयाब हो जाएगा उसी इस बात का पता था की वह लड़की भी उससे प्यार (Love) करती है मगर क्या यह बातें उनकी पूरी हो जायेगी एक दिन संजीव उस लड़की से मिलता है वह दोनों इस बात को अच्छे से जानते थे की वह एक दूसरे से प्यार (love story in hindi) करते है मगर उन्हें अपनी मंजिल अभी पता नहीं थी, उसमे अभी बहुत समय था.

सब आसान नहीं होता प्यार की कहानी : love stories in hindi

love stories.jpg

love stories in hindi

वह दोनों अक्सर प्यार (Love) की बातें किया करते थे वह मिलने के लिए हमेशा ही कॉलेज को चुनते थे क्योकि वह अभी दोनों पढ़ाई कर रहे थे शायद वही से उनके प्यार (Love) की शुरुवात हुई थी जब वह दोनों पहली बार मिले थे तभी से उन्होंने देखा था और अपनी बात को रखा था वह दोनों एक दूसरे पसंद करते थे उनका यह कॉलेज का आखरी साल था उसके बाद वह मिल सकते थे अगर कोई परेशानी नहीं होती है तो वह आगे भी मिलते रहेंगे कुछ समय बाद ही एग्जाम होने वाले थे एग्जाम के बाद कुछ भी हो सकता था अभी संजीव को कुछ बनना था

 

तभी वह आगे बात कर सकता था उसके बाद कुछ हो भी सकता था समय बीत गया था एग्जाम भी हो गए थे एग्जाम के बाद वह दोनों मिलते है और बात करते है की अब हमे कुछ ऐसा करना होगा जिससे हम दोनों आगे का जीवन अच्छे से बिता सकते है संजीव उधर एग्जाम के बाद नौकरी की तलाश कर रहा था जब उसे नौकरी मिलती तभी वह कुछ कर सकता था मगर नौकरी मिलना इतना आसान नहीं था, वह नौकरी की तलाश हमेशा कर सकता था, मगर इससे कोई फायदा नहीं होने वाला था वह हर रोज जाता था और खाली हाथ आता था 

 

वह दोनों मिलते जरूर थे मगर एक निराशा उन्हें आ कर घेर रही थी क्योकि इससे जीवन पर प्रभाव पड़ रहा था मगर वह क्या कर सकते है, संजीव अब निराश हो रहा था उसे लग रहा था की अगर कोई नौकरी नहीं मिलती है तो उसे परेशानी का सामना करना पड़ सकता है मगर वह कोशिश तो कर रहा था इसलिए वह अब गुस्सा भी करने लगा था जोकि उसे नहीं करना चाहिए था वह दोनों मिलते जरूर थे मगर अब वह मुस्कान उनके चेहरे पर नहीं थी क्योकि अब परेशानी उनके चेहरे पर साफ़ नज़र आ रही थी 

 

कुछ समय बाद ही लड़की संजीव से मिलती है और कहती है की अब कुछ नहीं होगा क्योकि मेरी शादी तय हो गयी है अब हम कुछ नहीं कर सकते है संजीव को जब यह पता चलता है तो वह पूरी तरह से टूट जाता है वह अपनी कोशिश कर रहा था मगर अब क्या किया जा सकता है उसकी शादी तय हो गयी है वह दोनों अब अलग हो जाते है अब कुछ नहीं होगा वह जानते है की जो होना था समय रहते हुए हो सकता था मगर अब समय ही बीत गया है संजीव अपने घर चल जाता है

Read More-प्यार की किताब कहानी

वह निराशा से बैठा हुआ था कुछ देर बाद एक पोस्टमैन आता है वह उसकी नौकरी का खत लेकर आता है जब वह खत संजीव के हाथ में आता है तो देखता है जब तुम्हारी जरूरत थी तब तुम नहीं आये अब तुम्हारे कोई जरूरत नहीं है वह उस खत को वही पर छोड़कर चला जाता है यह निराशा थी जो उसके चेहरे पर साफ़ नज़र आ रही थी क्योकि वह प्यार में सफल नहीं हो पाया था जिंदगी में कुछ भी हो सकता है हम ज्यादा सोच भी नहीं पाते है मगर हमे हिम्मत से काम लेना होगा, सब आसान नहीं होता प्यार की कहानी, love stories in hindi, love story in hindi, अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे.

Read More Love story :-

Read More-प्यार की छोटी कहानी

Read More- प्यार की किस्मत

Read More-प्यार की नयी कहानी

Read More-अधूरे प्रेम की दो कहानी

Leave a Reply

error: Content is protected !!
+