प्यार की किताब कहानी, hindi book love story 2019

Hindi book love story 2019 | Hindi book story

प्यार की किताब कहानी : (hindi book love story), यह कहानी (hindi book story) दो दोस्तों की है वह बहुत ही अच्छे दोस्त है दोनों अधिकतर समय साथ में ही बिताया करते थे, एक दिन की बात है वह दोनों घूमने गए थे मगर बीच में ही उनमे से एक के पिताजी मिल गए थे उन्हें कुछ काम था वह अपने लड़के को ले गए थे (hindi book love story) एक दोस्त अब अकेला ही रह गया था वह सोचने लगा की हो सकता है की उन्हें कुछ काम होगा कोई बात नहीं है, मुझे आज अकेले ही घूमना होगा, वह किसी पार्क में घूम रहा था तभी एक जगह पर जाकर बैठ गया था

प्यार की किताब कहानी : hindi book love story

love story hindi.jpg

hindi book love story

वह जिस जगह पर बैठा था वही पर उसे प्यार की किताब (hindi book love story) मिलती है यह किसकी हो सकती है वह पार्क में देख रहा था मगर उसे नहीं पता था क्योकि उस और कोई भी नज़र नहीं आ रहा था, पता नहीं यह किसकी किताब (Book) है वह कुछ देर तक यही सोचता है की मुझे यही पर बैठना चाहिए तभी शायद पता चल जाए की यह प्यार की किताब (Book) किसकी है, वह इंतज़ार करता है मगर उस और कोई भी नहीं आ रहा था, मगर वह प्यार की किताब को ऐसे ही छोड़ना नहीं चाहता था वह इंतज़ार कर रहा था

 

अब रात होने वाली थी कोई आ भी नहीं रहा था तभी उसने सोचा की मुझे चलना चाहिए वह चलने के लिए उठा ही था की सामने से एक लड़की आती है वह उसके पास आकर रुक जाती है वह पूछती है की आपको कोई किताब (Book) मिली है वह लड़का उसकी और देखता है तभी फिर से वह दुबारा पूछती है वह लड़का कहता है की यह किताब (Book) है वह लड़की कहती है की हां यही किताब है यह मुझसे यही पर रह गयी थी जब घर पहुंच गयी तो मुझे याद आया और में घर से यहां पर आयी हु,

 

वह लड़का उससे बहुत कुछ पूछना चाहता था मगर उससे बात करने की हिम्मत नहीं हो रही थी वह लड़की अपनी किताब लेती है तभी वह लड़का कहता है की में यहां पर काफी समय से इंतज़ार कर रहा था में भी यही सोच रहा था की पता नहीं यह किताब किसकी है क्योकि कोई भी नज़र नहीं आ रहा था अगर तुम समय पर न आती तो में इसे लेकर चला जाता लेकिन उससे पहले ही तुम आ गयी थी, वह लड़की किताब लेती है और चली जाती है वह उससे बात करना चाहता है मगर कुछ नहीं होता है वह सोचता ही रह जाता है 

 

लड़की चली जाती है वह यह बात सोचता है की यह समय बात करने का नहीं है वह कल फिर उसी समय यहां पर आएगा शायद वह नज़र आ जाए अगले दिन ही वह पार्क में चला जाता है मगर आज वह नहीं आती है, उसे लगता है की शायद कल आएगी, इसलिए वह कल के बारे में सोच रहा था कल का दिन उसके लिए अच्छा भी हो गया था क्योकि वह लड़की उसे मिल गयी थी वह उससे बात करता उससे पहले ही लड़की उसके पास आती है और उसे कहती है की आपकी वजह से ही मेरी किताब मिली है

 

वह लड़का कहता है की कोई बात नहीं है में उस जगह आया था मुझे वह किताबे मिली थी तभी आपको वह मिल पायी थी, धीरे धीरे समय बीत गया था उनके बीच बातें होती थी, उनके बीच प्यार (Love) नहीं हुआ था मगर किताब (Book) की वजह से उनकी दोस्ती हो गयी थी कुछ ऐसी बाते भी होती है जिनकी वजह से कुछ भी हो सकता है उस लड़की से दोस्ती भी उस प्यार (Love) की किताब (Book) से हुई थी, प्यार की किताब कहानी : (hindi book love story), (hindi book story) अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो आगे भी शेयर कर सकते है.

Read More Love story :-

Read More-प्यार की छोटी कहानी

Read More- प्यार की किस्मत

Read More-प्यार की नयी कहानी

Read More-अधूरे प्रेम की दो कहानी

Leave a Reply

error: Content is protected !!